Spiritual Quotes In Hindi

Spiritual Quotes In Hindi: नमस्कार दोस्तों कैसे है आप लोग आशा करता हु की आप लोग ठीक होंगे। और हमारी कोट्स को पढ़ कर काफी अच्छा लगता होगा। तो आज की जो कोट्स है वो है आध्यात्मिकता इसके बारे हम आपको बताते है। 

भारत एक परंपराओं का देश है और इस वजह से यहां भगवान और गुरुओं का विशेष महत्व माना जाता है।

देशभर में रहने वाले कई लोग गुरुओं और उनके वचनों पर विश्वास करते हैं, ऐसे ही आध्यात्म ही भगवान तक पहुंचने का एकमात्र रास्ता है एवं आध्यात्मिकता से ही ईश्वर की शक्ति का एहसास किया जा सकता है। 

Best Spiritual Quotes In Hindi (आध्यात्मिक सर्वश्रेष्ठ विचार)

जैसे #मोमबत्ती बिना आग के नहीं #जल सकती। मनुष्य भी आध्यात्मिक# जीवन के बिना नहीं जी सकता।

जो लोग #बोधपूर्वक जीते हैं उन्हें #मौत का कोई डर# नहीं होता।

कर्म तेरे अच्छे है तो किस्मत# तेरी दासी हैं,नियत तेरी #अच्छी है तो घर में मथुरा# और काशी हैं.

कषाय दबाने से चले जाएँ, ऐसे नहीं है वे ‘ज्ञान’ से जाते हैं।

ईश्वर तो कण-कण में है,फिर भी इंसान इन्हें मंदिरों,मस्जिदों, चर्च और गुरूद्वारों में ढूँढता हैं।

बुरा वक्त कभी भी बता कर नहीं आता,मगर सिखा समझा कर बहुत कुछ जाता हैं.

किसी को नुकसान पहुंचाना भी पाप है और किसी को कमजोर बनाना भी पाप है.

आत्मा को निरंतर साफ करते रहें,दुनिया को निरंतर माफ़ करते रहें,परमात्मा को निरंतर याद करते रहें

जिस पर रहती है कृपा भगवान की,उसे चिंता नहीं रहती है किसी बात की.

जो मन इर्षा एवं द्वेष से मुक्त हो जाता है उस मन में ईश्वर का घर होता है।

हमारा #भाग्य हमारे हीं उन कर्मों का #फल है, जिन कर्मों को हमने #अतीत में किया है. उसी तरह हम आज जो #कर्म कर रहे हैं, वो हमारे आने वाले कल को #निर्धारित करेंगे.

जब कल का दिन देखा ही नहींतो आज का दिन क्यों खोयेंजिस घड़ी में हंस सकते हैंउस घड़ी में कल के लिए क्यों रोयें

आध्यात्मिकता पर सर्वश्रेष्ठ सुविचार

भगवान के दरवार में सभी कर्मों का लेखा-जोखा रहता है।  – गुरु नानक

आपका कर्तव्य ही धर्म है, प्रेम ही ईश्वर है, सेवा ही पूजा है, और सत्य ही भक्ति है। – अज्ञात

मैंने सब कुछ देखने के लिए अपनी आँखें बंद कर लीं। – पॉल गौगुइन

प्रकृति हमारी खूबसूरती, बौद्धिक, संज्ञानात्मक और यहां तक कि आध्यात्मिक संतुष्टि की कुंजी रखती है। – ई.ओ.  विल्सन

सत्संग एक महान महिमा है – वह दुखो को हरता है , पापों को काटता है और जीवन को सुधारता है। –  अज्ञात

परिपक्वता (Maturity) गरिमा की सीमा के भीतर अपनी भावनाओं को सोचने, बोलने और कार्य करने की क्षमता है। आपकी परिपक्वता का माप यह है कि आप अपनी कुंठाओं के बीच कितने आध्यात्मिक हो जाते हैं। – सैमुअल उलेमान

दुनिया में जो कुछ भी था, मेरा गुरु था। – रमना महर्षि

अध्यात्मक विचारों के आभाव में व्यक्ति गुमराह हो जाता है। – अज्ञात

ईश्वर का नाम सभी लेते है, परन्तु ईश्वर का नाम लेने भर से   ईश्वर को पाया नहीं जा सकता।  –  अज्ञात

जो वेद और शास्त्र के ग्रंथों को याद कर लेता है  किंतु उनके यथार्थ तत्व को नहीं समझता, उसका वह याद रखना व्यर्थ है। – महर्षि वेदव्यास

जो बाहर की सुनता है बिखर जाता है, जो अपने अंदर की सुनता है सवर जाता है, और आध्यात्मिकता अंदर से आती है। –  अज्ञात

मैं यह कभी नहीं देखता कि क्या किया गया है; मैं केवल देखता हूं कि क्या किया जाना बाकी है। – गौतम बुद्ध

दोस्ती हमेशा मेरी आध्यात्मिक यात्रा के मूल में रही है। – हेनरी नोवेन

जिस दिन हमारा मन परमात्मा को याद करने, और उसमे दिलचस्पी लेना शुरू कर देता है उसी दिन से हमारी परेशानियाँ भी हम में दिलचस्पी लेना बंद कर देती हैं। – गुरु रामदास

तुम जिस चीज़ के भागते हो उसी को खो देते हो। – गौतम बुद्ध

आपके विचार ही हर चीज का प्राथमिक कारण हैं। रोंडा बर्न

प्रेम मन को नियंत्रित करने का सबसे संतोषजनक तरीका है…। भक्ति हमें एकांगी बनाती है जब यह हमारी सहज प्रेम की भावना को जागृत करती है। – राधानाथ स्वामी

हमेशा आराम की चाहत में तुम आलसी हो जाते हो। हमेशा पूर्णता की चाहत में तुम क्रोधित हो जाते हो, हमेशा अमीर बनने की चाहत में तुम लालची हो जाते हो। – श्री श्री रविशंकर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *