Sad Emotional Shayari In Hindi On Khamoshi

Khamoshi Shayari Status Quotes Images in Hindi – हर खामोशी के पीछे एक बड़ी ही दिलचस्प कहानी होती है. जब कोई खामोश होता है तो वह सबसे ज्यादा अपने आप से बातें कर रहा होता है. अगर आपके विचार सकारात्मक है तो आपको खामोशी एक सफल इंसान बना देती है. यदि आपके अंदर नकारात्मक विचार चल रहे है तो ये खामोशी आपको बर्बाद कर देती है.

ऐ मेरे दोस्त अपने खामोशी को अपनी ताकत बनाना। सच कहता हूँ कि सफलता की उस बुलंदी पर पहुंचोगे। कि तुम्हें खुद, खुद पर यकीन नहीं होगा। जिंदगी एक बार मिलती है इसलिए हमेशा इसे जिन्दा दिली के साथ जीना। अगर तुम्हें कोई छोड़ जाए, तुम्हारा दिल तोड़ जाए तो इसका अफ़सोस मत करना। बल्कि जीवन में कुछ ऐसा करना कि उस व्यक्ति को अफ़सोस हो.

Khamosh Shayari

जज्बात कहते हैं, खामोशी से बसर हो जाएँ,
दर्द की ज़िद हैं कि दुनिया को खबर हो जाएँ.

जब कोई बाहर से खामोश होता है,
तो उसके अंदर बहुत ज्यादा शोर होता हैं.

चुभता तो बहुत कुछ हैं मुझे भी तीर की तरह,
लेकिन खामोश रहता हूँ तेरी तस्वीर की तरह.

ख़ामोश शहर की चीखती रातें,
सब चुप हैं पर, कहने को है हजार बातें.

मेरी खामोशियों में भी फसाना ढूंढ लेती है,
बड़ी शातिर है ये दुनिया बहाना ढूंढ लेती है,
हकीकत जिद किये बैठी है चकनाचूर करने को,
मगर हर आंख फिर सपना सुहाना ढूंढ लेती है।

तड़प रहे है हम तुमसे एक अल्फाज के लिए,
तोड़ दो खामोशी हमें जिन्दा रखने के लिए।

चलो अब जाने भी दो यार क्या करोगे दास्तान सुनकर,
खामोशी तुम समझोगे नहीं और बयां हमसे होगा नहीं।

Khamoshi Quotes

जब दर्द हद से ज्यादा बढ़ जाता है तो इन्सान रोता नहीं खामोश हो जाता है.

हसने हँसाने वाले अचानक खामोश हो जाएँ तो उनकी खामोशी से सुकून नहीं खौफ आता है.

कभी कभी अलफ़ाज़ से भी ज्यादा दुसरे की खामोशी तकलीफ देती है.

किसी को अज़ीयत / तकलीफ देने के बाद उसके सब्र और खामोशी से डरो.

किसी अपने के दिए दर्द का जवाब सिर्फ खामोशी होती है.

कमाल बात यह है की लफ़्ज़ों से ही खामोशी टूटती है और लफ्ज़ ही खामोश कर देते हैं.

हर खामोशी हाँ नहीं होती… कोई गिला भी हो सकती है.

ध्यान रखें की रूठी हुयी खामोशी से बोलती हुयी शिकायते अच्छी होती है…

कुछ बातों का जवाब सिर्फ खामोशी हौती है और खामोशी बहुत खूबसूरत जवाब है.

खामोशी अज़ीम नेमत है बिलखुसूस  उस मक़ाम पर जहाँ इख्तेलाफ़ ज्यादा, आवाज़े बुलंद, इल्म की कमी और दलील की कोई औकात ना हो.

Sad Emotional Shayari In Hindi On Khamoshi

वो कहती थी तेरे जिश का साया हु मै
सायद इसलिए अंधेरो में साथ छोड़ दिए उसने

अब अल्फ़ाज नहीं बचे कहने को
एक वो है,जो मेरी ख़ामोशी नहीं समझती।

लफ्ज़ो को तो दुनिया समझती है
काश कोई ख़ामोशी भी समझता।

इन ख़ामोश हवाओं में थोड़ी आहट तो हो.
उस बिखरी रूह को हमसे थोड़ी चाहत तो हो…

जान ले लेगी अब ये ख़ामोशी,
क्यूँ ना झगड़ा ही कर लिया जाये..!

लफ़्ज़ों की कमी तो कभी भी नहीं थी जनाब,
हमें तलाश उनकी है जो हमारी ख़ामोशी पढ़ लें ।

तेरी खामोशियों को पढ़कर खामोश हो जाता हूं
भला कर भी क्या सकता हूं गम-ए-आगोश हो जाता हूं

साँसों को छलनी, जिगर को पार करती है
ख़मोशी भी, बड़े सलीके से वार करती है

Dost ki Khamoshi Shayari

दोस्त की ख़ामोशी को मैं समझ नहीं पाया,
चेहरे पर मुस्कान रखी और अकेले में आंसू बहाया।

मेरी जिंदगी में मेरे दोस्तों ने मुझको खूब हँसाया,
घर की जरूरतों ने मेरे चेहरे पर सिर्फ खामोशी ही लाया।

Kisi ki Khamoshi Shayari

कभी ख़ामोश बैठोगे, कभी कुछ गुनगुनाओगे,
हम उतना याद आयेंगे, जितना तुम मुझे भुलाओगे.

ख़ामोश फ़िजा थी कोई साया न था,
इस शहर में मुझसा कोई आया न था,
किसी जुल्म ने छीन ली हमसे हमारी मोहब्बत
हमने तो किसी का दिल दुखाया न था.

इंसान की अच्छाई पर सब खामोश रहते हैं,
चर्चा अगर उसकी बुराई पर हो तो गूँगे भी बोल पड़ते हैं.

जब ख़ामोश आखों से बात होती हैं,
ऐसे ही मोहब्बत की शुरूआत होती हैं.

Aapki Khamoshi Shayari

जब कोई ख्याल दिल से टकराता हैं,
दिल ना चाह कर भी, ख़ामोश रह जाता हैं,
कोई सब कुछ कहकर प्यार जताता हैं,
कोई कुछ ना कहकर भी, सब बोल जाता हैं.

जब इंसान अंदर से टूट जाता हैं,
तो अक्सर बाहर से खामोश हो जाता हैं.

दिल की धड़कने हमेशा कुछ-न-कुछ कहती हैं,
कोई सुने या न सुने ये ख़ामोश नहीं रहती हैं.

जब दिल टूट जाए या कोई अपना ख़ास छोड़कर चला जाएँ तब लोग अक्सर ख़ामोश हो जाते हैं. ख़ामोश होने के और भी बहुत से कारण होते हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari, Shayari on Khamoshi, Khamoshi Shayari HindiUski Khamoshi Shayari, Meri Khamoshi Shayari, Aapki Khamoshi Shayari, Tumhari Khamoshi Shayari, Dost ki Khamoshi Shayari आदि दिए हुए हैं इसे जरूर पढ़े.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *